पांवटा साहिब में अग्निपथ योजना के विरोध में उतरे युवा, यूवाओ के साथ हो रहा खिलवाड़ – नॉटी

देश में ही नहीं हिमाचल प्रदेश में भी अग्नीपथ भारतीय सेना के लिए बनाई गई योजना का विरोध शुरू हो गया हैयुवाओं ने एसडीएम पांवटा को अग्नीपथ भारतीय सेना चयन नीति को लेकर अपना विरोध दर्ज करवाया।

बता दें कि हिमाचल प्रदेश में ही नहीं देश के कई हिस्सों में अग्नीपथ भारतीय सेना में चयन नीति को लेकर इसका कड़ा विरोध हो रहा है देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का भी कड़ा विरोध शुरू हो गया है ।
बिहार यूपी दिल्ली हरियाणा इन जगहों पर विशेष तौर पर कई आत्महत्याएं युवा कर चुके हैं और जमकर सड़कों पर इसका विरोध भी शुरू हुआ है।आर्मी में भर्ती के नियमो के बदलाव को लेकर युवाओं ने भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले प्रदर्शन किया गया और एसडीएम के द्वारा एक ज्ञापन देश के राष्ट्रपति को भेजा गया।

इस मौके अनिंदर सिंह नॉटी प्रदेश अध्यक्ष बीकेयू गुरजीत सिंह पूर्व सैनिक संगठन महासचिव कुलदीप चौधरी शमशेर सहित दर्जनों युवा शामिल हुए और जबरदस्त नारेबाजी के साथ विरोध जताया गया।
ऐसा कहा जाता है कि भारतीय सेना में जाने का युवाओं का सपना पूरी तरह से बर्बाद हो जाएगा सिर्फ इतना ही नहीं देश के लिए जो जज्बा युवाओं में आर्मी के लिए रहता है वह भी केवल और केवल भाड़े जैसे सैनिक तौर पर बन जाएगा ।ऐसे में उनके इस सपने को बेहद बुरी तरह से तितर-बितर कर दिया गया है
अग्नीपथ योजना के तहत युवाओं को 6 महीने की ट्रेनिंग के साथ सिर्फ 4 वर्षों के लिए भारतीय सेना में अपनी सेवाएं देने का मौका मिलेगा और केवल 25% ही अपनी सेवाएं दे पाएंगे उसके बाद 75% को सेवानिवृत्त कर दिया जाएगा। और इस दौरान पगार के नाम पर उन्हें 30000 वेतन मिलेगा और 4 वर्ष बाद भाग्य यूवाओ को लेकर कहां जाएगा किसी को नहीं पता।
बिहार के युवाओं ने कहा है कि यह योजना केवल और केवल नक्सली प्रभावित क्षेत्र को और अधिक ट्रेंड नक्सली देने की योजना है जिसका वह पुरजोर विरोध करते हैं युवाओं के भविष्य के साथ जिस तरह से खिलवाड़ रक्षा मंत्री कर रहे हैं वह दुरभाग्य पूर्ण है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

मीडिया