मशरूम फैक्टरी की मनमानी, लोगो के खेतो में छोड़ा जा रहा कैमिकल वाला पानी ।

चंद्र सिक्कों के लालच में आकर किसी की जिंदगी को दांव पर लगाना क्या तर्क संगत होगा। लोग अक्सर अपने फायदे के लिए कुछ भी करने को तैयार है। दूसरों के चाहे गले में फंदा क्यों न लग जाए। इसी तरह का एक वाक्या हिमालयन इंटरनेशनल फूड लिमिटेड मशरूम फैक्ट्री शुभखेड़ा पांवटा साहिब का सामने आया है।

मशरूम फैक्ट्री द्वारा खुले में दूषित कैमिकल युक्त पानी छोड़कर आसपास के वातावरण को दूषित किया जा रहा है। यह आरोप नरेश चौधरी ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करके कंपनी पर लगाए हैं।

उन्होंने बताया कि सूर्या कॉलोनी वार्ड नंबर 6 में स्थित हिमालय इंटरनेशनल फूड लिमिटेड कंपनी काफी लंबे अरसे से यहां पर अपना वर्चस्व बनाए हुए हैं।

इसी के साथ कंपनी मशरूम फैक्ट्री से निकलने वाले गंदे पानी के स्टोरेज टैंक को खुले में छोड़ देती है। सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट काफी लम्बे समय से बंद होने पर कंपनी इस तरह का कार्य जोरों शोरों पर कर रही है। पर्यावरण को दूषित करने में इस कंपनी का अहम रोल रहता है।

शिकायतकर्ता ने बताया कि हिमालयन इंटरनेशनल फूड लिमिटेड मशरूम फैक्ट्री शुभखेड़ा पांवटा साहिब की सूचना प्रार्थी ने क्षेत्रीय अधिकारी हिमाचल प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण कंट्रोल बोर्ड पांवटा साहिब को दी थी।

हिमाचल प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण कंट्रोल बोर्ड ने संज्ञान लेते हुए कंपनी को नोटिस कर दिया था। बावजूद इसके फिर भी कंपनी अपने काले कारनामों से बावजूद नहीं आ रही हैं।

 

नरेश चौधरी ने बताया कि कंपनी द्वारा गंदा पानी उनके रिहायशी मकानों के साथ लगते खेतों में इकट्ठा हो रहा है। जिससे बीमारियों के फैलने का अंदेशा बना हुआ है। जहरीले मच्छर अक्सर यहां पर पनप रहे हैं। यहाॅ तक की सांस लेने में भी समस्या उत्पन्न हो रही है।

शिकायतकर्ता ने कई मर्तबा कंपनी के मालिक को फोन के माध्यम से इस पूरे घटनाक्रम की फोटो व वीडियो सांझा की। परंतु अभी तक भी रसायन युक्त पानी खुलेआम हिमालयन इंटरनेशनल फूड लिमिटेड मशरूम फैक्ट्री शुभखेड़ा द्वारा छोड़ा जा रहे हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

मीडिया