वैकल्पिक पुलिया से गुजर रहे 40 – 40टन के भारी वाहन, डीसी सिरमौर के आदेशों की उड़ाई जा रही धज्जियां – प्रदीप चौहान

पाँवटा साहिब को गिरिपार को जोड़ने वाले बांगरण पुल की मुरम्मत का काम चला हुआ है। करीब एक माह तक यहां पर पुल से आवाजाही बंद है। प्रशासन ने छोटी गाड़ियों के लिए जहां पुल के साथ ही नदी के रास्ते एक छोटी पुलिया का वैकल्पिक मार्ग तैयार किया है वहीं बड़े भारी वाहनों के लिए नवादा रामपुरघाट रोड़ तय किया है। लेकिन खनन सामग्री ढोने वाले प्रशासन के आदेशों की धज्जियाँ उड़ाते हुए वैकल्पिक पुलिया पर बड़े वाहन लेकर गुजर रहे है, जिससे इस वैकल्पिक मार्ग पर भी खतरा मंडरा रहा है।

 

कांग्रेस नेता प्रदीप चौहान ने कहा कि डीसी सिरमौर के ऑर्डर की भी खनन वाले धज्जियाँ उड़ा रहे है। बांगरण पुल का रिपेयरिंग का काम चला हुआ है, जिसमें डीसी साहब ने बड़ी गाड़ियों के लिए अलग से रूट निर्धारित किया था। एक छोटा मार्ग छोटी गाड़ियों बाइक वालों के लिए गिरि नदी से बनाया गया है, जिससे काम पर आने जाने वाले लोगों को कोई दिक्कत परेशानी ना हो।

 

लेकिन खनन वाले डीसी साहब के ऑर्डर को नहीं मान रहे और वह भी उसी रास्ते से जा रहे हैं जिससे छोटी गाड़ियां चल रही है। यदि वहां पर बड़ी गाड़ियों से वह वैकल्पिक पुलिया टूट जाती है, तो काम पर जाने वाले मजदूर भाई, सरकारी कर्मचारी को आने जाने में परेशानी का सामना करना पड़ेगा।उन्होंने आरोप लगाया है कि क्या इसमें प्रशासन और खनन वालों की मिलीभगत है जो यह भारी गाड़ियां नहीं रुक रही है। जबकि वहां पर पुलिस कर्मी भी होते हैं।

 

बावजूद इसके वहां से गाड़ियां चल रही है। क्या डीसी साहब ने बड़ी गाड़ियों को चलने की भी वहां से परमिशन दे रखी है? यदि नहीं है तो यह गाड़ियां कैसे चल रही है। प्रदीप चौहान ने कहा कि यदि इन गाड़ियों पर जल्द से जल्द पुलिस ने कार्रवाई नहीं की तो इसकी शिकायत डीएसपी पाँवटा साहिब को दी जाएगी कि इस मार्ग पर बड़ी गाड़ियों का प्रवेश बंद किया जाए ताकि आम आदमी को आने जाने में परेशानी ना हो।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

मीडिया