श्री साई हॉस्पिटल करेगा विश्व हृदय दिवस पर होगी आपके दिल की मुफ्त जाँच 

हमारे शरीर का सबसे महत्पूर्ण अंग है। दिल से सम्बंधित बीमारियां एक गंभीर स्थिति है , जिन्हे समय पर निरंतर देख भाल की आवश्यकता होती है। भारत में हृदय रोगों के कारण होने वाली मौतों की संख्या पिछले कुछ सालों में बढ़ी है। आपके दिल के ख्याल के लिए श्री साई ग्रुप ऑफ़ हॉस्पिटल्स की पौंटा साहिब ब्रांच में हृदय सम्बंधित उच्स्तरीये सुविधाएं उपलब्ध है।

 

विश्व हृदय दिवस पर श्री साई कार्डियक एवं क्रिटिकल केयर सेंटर पौंटा साहिब द्वारा निशुल्क जांच एवं परामर्श शिविर का आयोजन किया जा रहा है। हृदय रोगी इस शिविर में सीनियर इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजिस्ट डॉ पी ज्योतिनाथ से अपनी जाँच करवा सकते है साथ ही सही मार्गदर्शन भी ले सकतें है।

डॉ पी ज्योतिनाथ ने हृदय की देखभाल के सम्बन्ध में महत्वपूर्ण जानकारी दी। उन्होंने बताया की हृदय हमारे जीवन का आधार है।

 

यदि दिल धड़क रहा है तो व्यक्ति जीवित है लेकिन जब धड़कन बंद तो समझिए कि व्यक्ति की मृत्यु हो गई। इसलिए दिल की धड़कनों का खयाल विशेष तौर पर रखना चाहिए क्योंकि उसी से हम जिंदा हैं। जरा सी भी अव्यवस्थित जीवनशैली और स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही आप के नाजुक दिल के लिए खतरा पैदा कर सकती है।

 

बदलती जीवन शैली ने हमारे दिल के लिए खतरा बढ़ा दिया है। जीवनशैली व खानपान में बदलाव ने लोगों को हृदय संबंधी रोगों के करीब पहुंचा दिया है। हृदय रोग किसी भी उम्र में किसी को भी हो सकते हैं। हृदय को स्वस्थ रखने के लिए हमें अपने रोजमर्रा के जीवन में ही थोड़े बदलाव लाने की जरुरत होती है।

उन्होंने बताया की पांवटा साहिब में श्री साई कार्डियक एवं क्रिटिकल केयर सेंटर पिछले डेढ़ सालों में हृदय रोगियों के इलाज़ के लिए वरदान साबित हो रहा है। अब जिला सिरमौर के हृदय रोगिओं को अपने क्षेत्र में बेहतरीन एवं समय रहते उच्स्तरीये सुविधाएं मिल रही है।

 

अस्पताल सरकारी स्वास्थ्य योजनाओं एवं अन्य इन्शुरन्स कम्पनीओ से अधिकृत है जिस से रोगी को मुफ्त एवं कैश लैस इलाज की सुविधा उपलभ्द है। हमारे पास एंजियोग्राफी, एंजियोप्लास्टी के लिए कैथलैब है।

 

हार्ट अटैक के रोगी को समय रहते अस्पताल में पहुंचाया जाये तो उसकी जान बचायी जा सकती है। इस विश्व हृदय दिवस पर श्री साई कार्डियक एवं क्रिटिकल केयर सेण्टर पौंटा साहिब में मुफ्त जाँच एवं परामर्श शिविर का आयोजन किया जा रहा है। रोगी अधिक से अधिक संख्या में पहुँच कर शिविर का लाभ ले सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

मीडिया