हिमाचल में भांग की खेती को वैध करने के लिए स्टडी कर रही सरकार

देहरादून में बागबानी मंत्री संग कमेटी ने सगंध पौधा केंद्र का किया दौरा

हिमाचल में भांग की खेती को वैध करने के लिए सरकार विभिन्न पहुलओं पर विचार कर रही है। बागबानी मंत्री जगत सिंह नेगी ने कहा कि औद्योगिक और गैर-मादक उपयोग के लिए भांग की खेती शुरू करने को लेकर प्रदेश सरकार सभी पहलुओं पर विचार कर रही है।

इस संबंध में गठित प्रदेश सरकार की समिति ने आज राजस्व, बागबानी एवं जनजातीय विकास मंत्री जगत सिंह नेगी के नेतृत्व में देहरादून के शैलाकुई में सगंध पौधा केंद्र का दौरा किया। इस अवसर पर जगत सिंह नेगी ने कहा कि सगंध पौधा केंद्र में दौरे के दौरान खेती शुरू करने को लेकर विभिन्न पहलुओं पर समिति ने विस्तार से जानकारी हासिल की।

इस दौरान सगंध पौधा केंद्र के निदेशक नृपेंद्र चौहान ने समिति को वर्चुअल प्रेजेंटेशन के माध्यम से विभिन्न तकनीकी पहलुओं से अवगत करवाया।

समिति के सदस्य मुख्य संसदीय सचिव सुंदर सिंह ठाकुर, विधायक डा. हंसराज, सुरेंद्र शौरी, केवल सिंह पठानिया, डा. जनकराज, पूर्ण चंद ठाकुर सहित अधिवक्ता देवन, सहायक आयुक्त आबकारी डा. राजीव डोगरा, केंद्र के वैज्ञानिक डा. सुनील शाह, डा. ललित अग्रवाल और केंद्र के अन्य अधिकारी और कर्मचारी उपस्थित थे।

2027 तक बढ़ेगा बाजार

वर्ष 2022 में औद्योगिक हैम्प का वैश्विक बाजार लगभग 5600 करोड़ रुपए था, जो वर्ष 2027 तक बढक़र लगभग 15 हजार करोड़ रुपए होने का अनुमान है। इससे पूर्व समिति ने केंद्र में अत्याधुनिक पौध नर्सरी, औषधीय पौधों, सुगंधित फूलों की खेती के संबंध में भी जानकारी प्राप्त की।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

मीडिया